Vision & Mission - KARNISENA.COM राजपूत करणी सेना NEWS & LATEST UPDATES OF RAJPUTANA

Latest News

KARNISENA.COM

Post Top Ad

Responsive Ads Here

www.KarniSena.com

Vision & Mission

vision and mission of Shri Rashtriya Rajput karni sena Madhya Pradesh Bhopal



श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के मुख्य उद्देश्य

हमारे कार्य, हमारी उपस्थिति ही, हमारी पहचान है ...

1. किसी भी राजपूत (क्षत्रिय) चाहे वह आम हो या खास उसके/उनके साथ, हमारी कौम के साथ किसी भी तरह के राजनैतिक व सामाजिक द्वेष एवं जातीय पूर्वाग्रह षडयंत्र के चलते, किसी भी तरह के दुर्व्यवहार उपेक्षा पक्षपातपूर्ण अनाचार होने पर पुरजोर विरोध करना, 
उनका साथ देना, उनके पक्ष मे/ कौम के पक्ष में लामबंद हो खड़ा रहना, लड़ना संघर्ष करते हुए विजय हासिल करना |

2. हमारे गौरवमय इतिहास के साथ छेड़छाड़ और सिनेमा टीवी और अन्य किसी साधन के माध्यम से हो रही समाज की खराब की जा रही छवि का का आक्रामक विरोध कर सुधार करवाना |

3. ऐतिहासिक महापुरुषों के नाम मर्यादा गरिमा के साथ जुड़े किसी भी विवाद के विरुद्ध आवाज बुलंद करना |

4. सामाजिक मुद्दे पर समाज में एकजुटता स्थापित करने का प्रयास, कौम मे लोकतंत्र अनुरुप राजनीतिक चेतना का संचार करते,  राजनीतिक वर्चस्व स्थापित करना |

5. सामजिक समरसता बनाये रखने और क्षत्रित्व कौम का नेतृत्व वर्चस्व कायम रखने हेतु 35 कौम को साथ लेकर चलना |

6. समाज की बालिकाओ में शिक्षा के लिए जागरूकता पैदा करना, बढ़ावा देना |

7. मातृशक्ति को हर जगह अग्रिम सम्मानित स्थान उपलब्ध करवाते हुए उन्हें बराबरी का दर्जा देना |

8. युवा वर्ग को मंच देना तथा समाज के प्रति उनकी सोच को सामने लाने का प्रयास करना युवाओं को परंपरागत  क्षत्रिय संस्कारो पर चलने की सीख प्रेरणा देते हुए, उन्हें नेतृत्व के लिए प्रोत्साहित करते सहयोग देना|

9. समय समय पर ऐतिहासिक महापुरुषो की जयंती मनाना, उनके नाम से भवन सड़क चौराहों का नामकरण करवाना, उनके नाम से सामुदायिक कल्याणकारी योजनाओं का शुभारंभ और प्रोत्साहन सहयोग देना, कौम की भावी पीढ़ी रुप में युवाओ को उनके शौर्य और क्षत्रियोचित्त गुणो से रूबरू करवाते उन्हें कौम का आइडल प्रेरक पुरुष रुप में स्थापना करना, और उनके नाम से रक्तदान जैसे अन्य मानव कल्याणकारी शिविर आयोजित करना ।

10. वैदिक सनातन धर्म के रक्षक पालक रुप में कार्य, गो सेवा, गो रक्षा करना और असहाय की सहायता करना |

11. समाज की उभरती प्रतिभाओं को सम्मानित करना तथा उन्हें शिक्षा व रोजगार के क्षेत्र में मार्गदर्शन एवं समयानुकूल बेहतर कोचिंग फैकल्टी की व्यवस्था उपलब्ध  करवाना |

12. आरक्षण आर्थिक आधार पर गरीबो को :- सबसे मुख्य रुप में समाज के बच्चों के भविष्य से जुड़े आरक्षण मसले पर फैसले तक, हक अधिकार की लड़ाई लड़ना karnisena.com

सभी राष्ट्रीय करणी सैनिक इन उद्देश्यो को जीवन की प्रेरणा मानते हुवे कार्य करे,

और समाज में उक्त संगठन की उपस्थिति को सार्थक बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करे |

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




श्री सुखदेव सिंह गोगामेड़ी जी 
राष्ट्रीय अध्यक्ष 
श्री राष्ट्रीय राजपूत करनी सेना
  श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना भारत का सबसे बड़ा सामाजिक संगठन है जिसमे 50 लाख युवा बना व राजपूत जुड़े हुए है करणी सेना की शुरुआत राजस्थान से २००६ में हुई थी लेकिन यह सिर्फ राज्सथान तक ही सिमित थी या कहे तो राजनितिक सीमाओं की वजह से अन्य राज्यों में विस्तार नहीं किया जा रहा था तब श्री सुखदेव सिंह जी गोगामेड़ी ने  श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के द्वारा सम्पूर्ण भारत के अन्य १९ राज्यों में इसका विस्तार किया और बंद  कमरों की राजनीति से ऊपर उठ कर समाज हिट सर्वोपरि रख कर रात दिन इसका गठन किया। करनी सेना के विस्तार ने तब और गति पकड़ी जब संजय लीला भंसाली को जयपुर में करणी सेनिको द्वारा पीटा गया और फिर आनंदपाल आंदोलन जिसमे ६ लाख लोग सावरदा में इकठ्ठा हुए थे और फिर राजपूताने के इतिहास का सबसे बड़ा आंदोलन पद्मावत फिल्म का विरोध जिसने सम्पूर्ण भारत के  सारे राजपूताने को एक जाजम पर ला कर खड़ा कर दिया।  आज करणी सेना राजस्थान , मध्यप्रदेश गुजरात उत्तर प्रदेश हरियाणा महाराष्ट्र व् अन्य राज्यों फ़ैल चुका है और भारत में राजपूताने का सबसे बड़ा सामाजिक संगठन बन चुका है जिसमे लगभग ५० लाख युवा करणी सैनिक जुड़े हुए है।


 मध्य प्रदेश में ही लगभग १० लाख करणी सैनिक है एक आव्हान पर लाखो युवा एकत्रित हो जाते है  १६ सितम्बर २०१८ को उज्जैन महारैली में लगभग ८ से १० लाख लोग एकत्रित हुऐ थे इसके अलावा मंदसौर, रतलाम में भी लगभग २ से ३ लाख करणी  सैनिक आरक्षण आर्थिक आधार पर करने हेतु महारैली कर चुके है। 






--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

करणी सेना से जुड़ने के नियम 

  • राजनितिक पद नहीं :- आपके पास किसी भी राजनैतिक पार्टी का कोई पद नहीं होना चाहिए क्योकि यह एक अराजनैतिक संगठन है एवं BJP व कांग्रेस व अन्य पार्टी सभी का विरोध समाज हित में करना पड़ता है। 
  • सिर्फ युवा : - जिनकी उम्र  १८ से अधिकतम ३५ वर्ष (सिर्फ जिला, ब्लॉक व तहसील स्तरीय पदों के लिए) . 
  • नाम व पद के लिए नहीं जुड़े :- करणी सेना में सिर्फ नाम व पद के लालच में ना जुड़े समाज की सेवा के लिए जुड़े। 
  • कार्यकाल :- एक वर्ष तक (पहले एक वर्ष के आपके सामाजिक कार्य व् सक्रियता को देख कर ही आपका कार्यकाल आगे बढ़ाया जा सकता है।)  
  • पदमुक्त :-  किसी भी राजपूत बना, सरदार ,करणी सेना के किसी भी पदअधिकारी , करणी सैनिक से फ़ोन पर या सोशल मीडिया पर फेसबुक , WhatsApp Group में अभद्र टिप्पणी व कमेंट करने पर आप को तुरंत पद मुक्त कर दिया जायेगा। 
  • Ego अहंकार :- अगर आप समाज हित में कार्य करना चाहते है तो अपना अहंकार छोड़ कर करणी सेना से शामिल हो और  "मै" कहना छोड़ दे  जैसे 
में ही सब कर रहा हु। ,
मैने ही ये किया वो किया। ,
मेरे द्वारा ही ये हो रहा है। ,
मेरा नाम नहीं लिया। ,
मेरा नाम न्यूज़ पेपर में या आभार में नहीं आया। ,
मुझे बुलाया नहीं , (बुलावे नहीं भेजे जाते होकम सामाजिक काम में, जो स्वाभिमानी होते है वो खुद चले आते है मैदान में। - WhatsApp ग्रुप में सुचना को ही बुलावा समझे ) 
मेरी वजह से ही संगठन चल रहा है इत्यादि 
यह सब छोड़ कर मन लगा कर काम करे और "हम" कहना सीखे  जैसे हमने ये किया , हमारी सब की मेहनत से ये हुआ आदि.,,, क्योकि संगठन सब की वजह से चलता है ना की किसी एक से। 
और जो संगठन में काम करता है उसका हुनर उसे आगे पहुँचा ही देता है व  संगठन में सबको पता चल जाता है की कोन सक्रिय है और निष्क्रिय और कोन सिर्फ नाम और पद के लिए आया है। जो काम करेगा वो आगे बढ़ेगा।

Join Karni Sena Just Click Here...






1 comment:

  1. Me apne aap ki bahut bhagysali samjhta hu ki me karni Sena ka 1 senik hu or mAa karni NE mujhe. Apne carno me jagah di

    ReplyDelete

WWW.KARNISENA.COM