करणी सेना से जुड़ने के नियम व निर्देश - करणी सेना KARNISENA.COM NEWS LATEST UPDATES OF RAJPUTANA

Latest News

KARNISENA.COM

Post Top Ad

Responsive Ads Here

www.KarniSena.com

करणी सेना से जुड़ने के नियम व निर्देश

Note :- श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना से जुड़ने से पहले नियम व निर्देशों को पड़ लेवे। 

"नियम व निर्देश"
  • 1. राजनितिक पद नहीं :- आपके पास किसी भी राजनैतिक पार्टी का कोई पद नहीं होना चाहिए क्योकि यह एक अराजनैतिक संगठन है एवं BJP व कांग्रेस व अन्य पार्टी सभी का विरोध समाज हित में करना पड़ता है। 
  • 2. सिर्फ युवा : - जिनकी उम्र  १८ से अधिकतम ३५ वर्ष (सिर्फ जिला, ब्लॉक व तहसील स्तरीय पदों के लिए) . 
  • 3. नाम व पद के लिए नहीं जुड़े :- करणी सेना में सिर्फ नाम व पद के लालच में ना जुड़े समाज की सेवा के लिए जुड़े। 
  • 4. कार्यकाल :- एक वर्ष तक (पहले एक वर्ष के आपके सामाजिक कार्य व् सक्रियता को देख कर ही आपका कार्यकाल आगे बढ़ाया जा सकता है।)  
  • 5. पदमुक्त :-  किसी भी राजपूत बना, सरदार ,करणी सेना के किसी भी पदअधिकारी , करणी सैनिक से फ़ोन पर या सोशल मीडिया पर फेसबुक , WhatsApp Group में अभद्र टिप्पणी व कमेंट , बहस , अनर्गल वार्तालाप करने पर आप को तुरंत पद मुक्त कर दिया जायेगा। 
  • 6. WhatsApp सन्देश को ही आमंत्रण समझे :-   प्रत्येक ठीकाने , गांव ,तहसील व जिले का अलग अलग एक WhatsApp ग्रुप बनता है और एक सुचना Group जिसमे सिर्फ जिले तहसील के पदाधिकारी ही ADMIN होते है और वो ही सुचना पहुंचते है। उस व्हाट्सप्प सूचन को ही आमंत्रण समझे और तुरंत बेहिजक अपने पदाधिकार से सम्पर्क करे।  ना ये कहे की मुझे फ़ोन नहीं लगाया या बोला नहीं क्योकि राजस्थान में whatsApp की एक सुचना पर सेकड़ो करणी सैनिक कुछ मिनटों में इकठ्ठा हो जाते है वो इंतजार नहीं करते फ़ोन का। 
  • 7. मंच और हारमाला नहीं :- करणी सेना के कार्यक्रम में कोई मंच नहीं होता क्योकि करणी सेना सबको एक जाजम पर लाने का कार्य कर रही है इसलिए सब एक जाजम पर बैठते है चाहे कोई भी पदाधिकार हो, केवल भाषण देने के लिए मंच पर जाते है और  महमानो हारमाला और साफे पहनाने की परम्पर भी करणी सेना के कार्यक्रम नहीं होती केवल तिलक लगा कर कार्यक्रम संपन्न  होता है 
  • 8. पदाधिकारी के निर्देश का पालन : - राष्ट्रीय , प्रदेश, संभाग ,जिले और तहसील के पदाधिकारियों से जो भी निर्देश , सूचन मिले उनका बिना वक्त गवाए पालन करे। क्यों,किन्तु,परन्तु कर उन पर ऊँगली ना उठावे और whatsApp ग्रुप में उनसे बहस ना करे ऐसा करने पर आपको तुरंत पद मुक्त कर दिया जायेगा। 
  • 9 . अहंकार ego :- अगर आप समाज हित में कार्य करना चाहते है तो अपना अहंकार छोड़ कर करणी सेना से शामिल हो और  "मै" कहना छोड़ दे  जैसे 
में ही सब कर रहा हु। ,
मैने ही ये किया वो किया। ,
मेरे द्वारा ही ये हो रहा है। ,
मेरा नाम नहीं लिया। ,
मेरा नाम न्यूज़ पेपर में या आभार में नहीं आया। ,
मुझे बुलाया नहीं , (बुलावे नहीं भेजे जाते होकम सामाजिक काम में, जो स्वाभिमानी होते है वो खुद चले आते है मैदान में। - WhatsApp ग्रुप में सुचना को ही बुलावा समझे ) 
मुझे बताया नहीं , मुझे फ़ोन नहीं किया  
मेरी वजह से ही संगठन चल रहा है इत्यादि 

  •  यह सब छोड़ कर मन लगा कर काम करे और "हम" कहना सीखे  जैसे हमने ये किया , हमारी सब की मेहनत से ये हुआ , हम सब मिल कर ऐसा करेंगे आदि.,,, क्योकि संगठन सब की वजह से चलता है ना की किसी एक से और जो संगठन में काम करता है उसका हुनर उसे आगे पहुँचा ही देता है व  संगठन में सबको पता चल जाता है की कोन सक्रिय है और निष्क्रिय और कोन सिर्फ नाम और पद के लिए आया है। जो काम करेगा वो आगे बढ़ेगा। धन्यवाद। 

1 comment:

WWW.KARNISENA.COM